Sawan 2022: छोटीकाशी के यजमानों ने पार्थिव शिवलिंग का किया अभिषेक।

 छोटीकाशी के चालीस से अधिक यजमानों ने आर्ष संस्कृति दिग्दर्शक संस्था की ओर से हरिद्वार के कनखल स्थित सोमेश्वर धाम में चल रहे धार्मिक शिविर में पार्थिव शिवलिंग की विधि विधान से पूजा-अर्चना की।

Sawan 2022: The hosts of Chotikashi performed the consecration of the earthly Shivling.
Sawan 2022: The hosts of Chotikashi performed the consecration of the earthly Shivling.


जयपुर। हरियाली अमावस्या और गुरू पुष्य नक्षत्र के शुभ संयोग पर छोटीकाशी के चालीस से अधिक यजमानों ने आर्ष संस्कृति दिग्दर्शक संस्था की ओर से हरिद्वार के कनखल स्थित सोमेश्वर धाम में चल रहे धार्मिक शिविर में पार्थिव शिवलिंग की विधि विधान से पूजा-अर्चना की। कार्यक्रम संयोजक धर्म प्रचारक विजय शंकर पांडेय ने बताया कि पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर प्राण प्रतिष्ठा की।

Sawan 2022: The hosts of Chotikashi performed the consecration of the earthly Shivling.



 इसके बाद गंगाजल सहित विभिन्न नदियों और तीर्थों के जल से अभिषेक कर पंचगव्य, पंचामृत, ईक्षु रस, विजया सहित अनेक सुगंधित द्रव्यों से रूद्रीपाठ के साथ अभिषेक किया। महामंडलेश्वर मनोहर दास महाराज के सान्निध्य में उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय, हरिद्वार के कुलपति देवी प्रसाद त्रिपाठी, वेदवेदाङ्ग संकाय अध्यक्ष एवं व्याकरण विभाग के अध्यक्ष  प्रो.  शैलेश कुमार  तिवारी,अद्वैत वेदांत शास्त्र के विशिष्ट विद्वान डॉ. स्वामी केशवानंद शास्त्री, हरिद्वार विश्वविद्यालय पत्रकारिता विभाग के प्रभारी एवं विभागाध्यक्ष डॉ. धीरज शुक्ला, केशवानंद महाराज की गरिमामयी उपस्थिति रहीं। पार्थिव शिवार्चन के बाद ही घाट पर ही पार्थिव शिवलिंगों का विसर्जन किया गया।