संयुक्त राष्ट्र संघ पर्यावरण प्रमुख एरिक सोलहेम पहली बार पहुंचे टोंक, जाने क्यों


◆एरिक सोलहेम पहली बार पहुंचे टोंक
◆जयपुर एनवायरनमेंट फेस्टिवल: एरिक सोलहेम   ◆श्री कल्पतरू संस्थान का सम्मान समारोह 
◆एरिक को बैलगाड़ी पर बिठाया 


जयपुर, nknewsindia: श्री कल्पतरू संस्थान के वार्षिक आयोजन वृक्ष मित्र सम्मान समारोह के तहत संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के छठे प्रमुख, वैश्विक नेता और महान पर्यावरणविद एरिक सोलहेम ने संस्थान के चुनिंदा स्वयंसेवकों और सहयोगीयों को "वृक्ष मित्र सम्मान 2022" के तहत प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिन्ह प्रदान किया!  सम्मानित होने वालों में जय प्रकाश रामावत, सिद्धि जोहरी, अनायना सिंघवी, पूर्व वन मंत्री राजकुमार रिणवा, वरिष्ठ अधिकारी पंकज ओझा, आईपीएस अधिकारी मनीष त्रिपाठी, क्षेत्रीय वन अधिकारी करण सिंह राजावत, सामाजिक कार्यकर्ता मोनिका जांगिड़ सहित देश के 22 राज्यों से लगभग 48 लोग शामिल हुए! 




इस मौके पर तेलंगाना से राज्यसभा सदस्य संतोष कुमार की ओर से आए प्रतिनिधिमंडल ने श्री कल्पतरू संस्थान के साथ राजस्थान में एक लाख वृक्ष पौधे लगाने की घोषणा की! वही महाराष्ट्र के पूर्व वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार का संदेश वीडियो भी दिखाया गया! एरिक ने "डायलॉग विद एरिक" कार्यक्रम के माध्यम से जमीनी स्तर पर काम कर रहे पर्यावरण प्रेमियों के नवाचारों को जाना और उनके सवालों का जवाब भी दिया!



प्रथम बार राजस्थान आए एरिक ने ट्रीमैन ऑफ इंडिया के नाम से मशहूर पर्यावरणविद विष्णु लाम्बा के टोंक स्थित लांबा गाँव पहुंचकर "बैक टू रूट्स" कार्यक्रम में शिरकत की! लांबा पहुंचने पर ग्रामीणों ने जमकर पुष्प वर्षा करते हुए एरिक का स्वागत किया ! गांव से 3 किलोमीटर दूर आकर ग्रामीणों ने एरिक को बैलगाड़ी पर बिठाकर आधी दूरी तय कराई ! उसके बाद ऊंट गाड़ी पर परंपरागत तरीके से बिठाकर नाचते गाते गांव लेकर पहुंचे, वहां यह जुलूस सभा में बदल गया! जहां जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी सहित अनेक लोगों ने एरिक का स्वागत किया ! एरिक ने गांव में पौधारोपण और परिंडा अभियान की शुरुआत की ! एरिक ने संस्थान की प्रेरणा से गांव में लगाए गए लगभग डेढ़ लाख फलों के पौधों का भी निरीक्षण किया और किसानों के साथ गेहूं की फसल काटी, वही पेड़ के पत्तों पर खेत में रखी खाट पर बैठकर भोजन भी किया! 



गांव की महिलाओं की ओर से पंचायत समिति सदस्य मीनाक्षी शर्मा एवं ग्राम पंचायत के सरपंच कैलाश तिवारी ने धन्यवाद ज्ञापित किया!ग्रामीणों ने एरिक को दुबार गांव आने की बात कहते हुए कहा कि आप अगली बार अपने साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी लाएं, तो एरिक बोले "आई विल ट्राई, मिस्टर मोदी इज माय बेस्ट फ्रेंड.




आज का दिन लांबा गांव के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा ! पंचायत का हर व्यक्ति महिला पुरुष आज एरिक के स्वागत में पलक पावडे बिछाय अपनी अपनी भूमिका में जुटा हुआ था! जाते समय एरिक को गांव के किसानों ने फल सब्जियां और अपने परंपरागत तरीके से बनाई गई देसी वस्तुएं भेंट की! जाते-जाते एरिक अनेक यादें छोड़ गए, जिन्हें लांबा गांव के लोग कभी नहीं भुला पाएंगे!




Click on {Subscribe} to keep getting latest news.