गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में चल रहे फिल्मी गानों को लेकर उठा विवाद ।

नई दिल्ली ( 7 जून,2021) : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमिटी के अंतर्गत चल रहे कोविड केयर सेंटर अपने आपत्तिजनक व्यवस्थाओं की वजह से विवादों में है। जानकारी हो दिल्ली सरकार से टाई-अप के बाद श्री रकाबगंज साहिब गुरुद्वारे के अंदर कोविड केयर सेंटर की स्थापना की गयी थी।लेकिन कल सोशल मीडिया में एक वायरल वीडियो में कोविड स्टॉफ हैप्पीनेस थेरेपी प्रकिया के तहत नाचने वाले गाने चला रहे थे। वीडियो के वायरल होते ही चारो तरफ से विरोध का सिलसिला शुरू हो गया। 

Amitabh Bachchan से दो करोड़ का दान लेने पर 15 कमेटी सदस्य फिर से पहुंचे कमेटी दफ्तर मांगा हिसाब



सरना ने सिख कत्लेआम के दोषियों को सजा दिलाने के लिए कानूनी प्रक्रिया तेज करने की माँग की ।


इसी क्रम में शिरोमणि अकाली दल दिल्ली (शिअदद)प्रधान परमजीत सिंह सरना ने इसके विरोध में अपना बयान जारी किया। सरना ने बताया कि ,"श्री रकाबगंज साहिब  श्री गुरु तेग बहादुर जी का पवित्र शहीदी स्थान है। यहाँ पर हम जश्न इत्यादि की अनुमति नहीं दे सकते। नियमानुसार भी, पवित्र गुरुद्वारों में 100 मीटर तक बैंडबाजा , ढोल, गाने इत्यादि की अनुमति नही है। यह हमारी सिख मर्यादाओं के खिलाफ है। हम गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और ऑपरेशन ब्लूस्टार सिख कत्लेआम की 37वीं बरसी मना रहे है। और एक तरफ सिरसा -कालका जश्न की अनुमति दे रहे है ?"


तमिलनाडु में सिख गुरु के चित्र का प्रयोग करके बेचा जा रहा है तम्बाकू !


सरना ने बताया कि यह कोई पहली बार नही है जब इस तरह की सिख विरोधी मर्यादाओ को बढ़ोतरी मिल रही है। यह बादलों के राज में पिछले 7 सालों से लगातार जारी है। कभी गुरुद्वारों में मदर टेरेसा का जन्मदिन, तो कभी गलत हुकुमनामों का प्रचार, तो कभी पालकी साहिब की बेअदबी ,कभी अमिताभ बच्चन से चंदे ,यह लगातार जारी है। 

WSCC सिख समुदाय द्वारा कोरोना सेना 2021 प्रशंसा अभियान शुरू किया गया ।



"हमें अस्पताल चलाने में कोई आपत्ति नही । मानवता की सेवा सबसे बड़ी सेवा है । हम स्वयं पिछले  एक महीने से कोविड मरीजों की मदद कर रहे है। लेकिन हमें इसके चलाने के तरीकों से दुःख है। राजनीति की  आड़ में नाम चमकाने की होड़ में लगे नेता हमारे सिख रेहत मर्यादाओं का सत्यानाश ना करें। " शिअदद प्रधान ने बताया।


दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी दसवंध के दुरुपयोग के मामले में घिरी।

0/Post a Comment/Comments

DIFFERENT NEWS

EVENT FESTIVAL

EVENT FESTIVAL