मोनिका जांगिड़ ने पर्यावरण के क्षेत्र में बनाई अपनी अंतरराष्ट्रीय पहचान

जयपुर : आज सारा विश्व जलवायु परिवर्तन के संकट से चिंतित है। कॉरोना जैसी वैश्विक विपत्ति ने भी मनुष्य को प्रकृति की शक्ति का अहसास कराया है। वहीं भारत की एक ऐसी बेटी है जो इस वैश्विक संकट के समाधान के लिए सार्थक प्रयास कर रही है। भारत की बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है ! वो चाहे खेल, शिक्षा, राजनीति, समाज सेवा हो या कोई और क्षेत्र, हर क्षेत्र में बेटियों ने भारत का नाम रोशन किया है ! जल जंगल जमीन और जानवर के संरक्षण की दिशा में वर्षों से देशभर में सक्रिय संगठन श्री कल्पतरु संस्थान की महिला शाखा के बारे में आज कौन नहीं जानता ! संस्थान से जुड़ी इन बेटियों ने भारत में पर्यावरण संरक्षण की दिशा में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ! उन्हीं में से एक है मोनिका जांगिड़ !



Erik Solheim ने Tree Man Of India को ट्वीट कर भारत आने का दिया संदेश।


दिल्ली बाईपास रोड जयपुर निवासी मोनिका एक साधारण परिवार से आती है ! पिता श्यामसुंदर जांगिड़ फर्नीचर का काम करते हैं और मां मीना देवी सामान्य ग्रहणी है ! इन सबके बावजूद मोनिका आज महिला पर्यावरणविद के रूप में अंतरराष्ट्रीय पहचान रखती है !


सांत्वना देने आए लोगों को पौधे भेंट कर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश।



मोनिका बताती है कि दसवीं तक निजी विधालय में पढ़ने के बाद घर वालों ने सरकारी स्कूल में दाखिला करवा दिया ! आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण पढ़ाई में फिर भी दिक्कतें आने लगी ! लेकिन पढ़ाई में अव्वल होने के कारण शालिनी केयर की ओर से एक परीक्षा आयोजित हुई और उस में भाग लेकर वे अपना चयन करवाने में कामयाब रही ! जिसके बाद वहां से पारितोषिक मिलने लगा और इसी दौरान वे श्री कल्पतरू संस्थान से जुड़ी गई ! वे  बताती है कि उन्होंने बचपन में मां के साथ घर के बाहर यूकेलिप्टस का पौधा लगाया था ! जो आज भी बहुत बड़ा पेड़ बन कर मौजूद है ! माँ से मिली बचपन की वही सीख अब संस्थान के माध्यम से बढ़ने लगी और सामाजिक सरोकारों से जुड़ने का काम शुरू हुआ ! इतना ही नहीं मोनिका नित्य प्रति बेजुबान पक्षियों के लिए दाने पानी की व्यवस्था भी अपने पॉकेट मनी से बचाकर करती है।


Corona effect: राजस्थान में अनोखी शादी दुल्हन ने मेहमानों को बाटे Oxygen वाले पौधेंं



मोनिका को सराहनीय सेवाओं के लिए संस्थान की ओर से एक समारोह में जाने का अवसर मिला ! जिसमें उनकी भेंट उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्या से हुई ! राज्यपाल ने मोनिका के बारे में जानकर अत्यंत प्रसन्न व्यक्त की और कहा कि वे आपके साथ हैं ! इसी तरह पर्यावरण के माध्यम से देश की सेवा में लगे रहो ! राज्यपाल के ये शब्द मोनिका के लिए प्रेरणा बन गए और मोनिका ने "द जयपुर गार्डनर" के नाम से अलग ही अभियान शुरू कर दिया और वो घर घर जाकर महिलाओं को प्लास्टिक के विरोध में जागरूक करने लगी ! घर की छतों पर बागवानी करने के देसी तरीके बताने लगी ! इस तरह अब तक वो दस हजार से अधिक पौधे लगाकर बड़े कर चुकी हैं !



यूएन पर्यावरण प्रमुख ने पत्र भेजकर लाम्बा को दी बधाई



लोग मोनिका को हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की तीसरी बेटी के रूप में भी जानते हैं । मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मोनिका के लिए बेटी संबोधित करते हुए ट्वीट किया और सराहनीय सेवाओं के लिए शुभकामनाएं भी दी है।


हिमाचल सीएम ने फिर से बढ़ाया बेटी का मनोबल



हाल ही में मोनिका का विवाह तय हुआ और शादी के दो दिन पहले लोक डाउन लग गया। बारात में ग्याहरा लोग शामिल थे और शादी समारोह में कुल इक्त्तीस मेहमान आए थे। मोनिका ने इसमें भी नवाचार करते हुए पूजन के लिए घर में लाए गए नारियल के खाली खोल का उपयोग पौधे तेयार करने में किया। मोनिका ने सरकार की गाइडलाइन की पालना करते हुए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की तो उचित व्यवस्था की ही, साथ ही तुलसी और गिलोय जैसे उन पौधों का चयन किया जो कोरोना के संक्रमण से बचाव में सहायक है और अधिक ऑक्सीजन का उत्पादन करते हैं। मोनिका ने सभी मेहमानों को एक-एक पौधा भेंट करके अद्वितीय उदाहरण प्रस्तुत किया। इसकी जानकारी मिलने पर राजस्थान भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने भी पत्र लिखकर मोनिका को शुभकामनाएं दी और ट्वीट के जरिए लोगों को भी इस नवाचार से अवगत कराया।


विश्व महिला दिवस मनाया


हाल ही में बाईस मई को मोनिका के जन्मदिन पर संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के प्रमुख एरिक सोलहेम ने ट्वीट कर बधाई दी और उनके कार्यों की सराहना की है। एरिक सोलहेम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चैंपियन ऑफ द अर्थ अवॉर्ड देने वालों में शामिल हैं।



मोनिका को अब तक कई मंचों से सम्मानित किया जा चुका है ! वर्ष 2016 में उन्हें राजस्थान सरकार के वन एवं पर्यावरण मंत्री राजकुमार रिणवा सर्टिफिकेट देकर सम्मानित कर चुके हैं ! वर्ष 2017 में जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा ने सम्मानित किया ! वर्ष 2018 में वन विभाग राजस्थान सरकार के प्रधान मुख्य वन संरक्षक केएल मीणा और वरिष्ठ नेता डॉ सतीश पूनिया ने सम्मानित किया ! वर्ष 2019 में उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्या उन्हें सम्मानित कर चुकी हैं ! वहीं श्री कल्पतरू संस्थान की ओर से आयोजित वृक्ष मित्र सम्मान समारोह में वे अब तक विशेष सेवाओं के लिए जिला स्तर, राज्य स्तर और राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हो चुकी है !

मोनिका ने कहा कि ट्रीमैन ऑफ इंडिया के नाम से मशहूर पर्यावरणविद विष्णु लाम्बा उसके आदर्श हैं । वे पिछले सात वर्षों से लाम्बा के नेतृत्व में संचालित संघटन श्री कल्पतरू संस्थान की सक्रिय कार्यकर्ता के तौर पर "द जयपुर गार्डनर" अभियान का नेतृत्व कर रही है।

मोनिका ने कहा कि प्रकृति एवं पुत्री का संरक्षण आज विश्व की सबसे बड़ी चुनौती है और ऐसे में भारत की बेटियों को विश्व का नेतृत्व करने के लिए आगे आना चाहिए । विश्व की श्रेष्ठ सेवा भारत का दायित्व है ।


मोनिका ने अपनी आगामी योजना के बारे में बताया कि संस्थान की ओर से गिलोय, तुलसी, अश्वगंधा, कालमेघ ओर एलोवेरा जैसे पौधे तेयार किए जा रहे हैं, जिन्हे जूलाई माह से घर घर निशुल्क वितरण किया जाएगा। ये सभी वे पौधे है को कॉरोना के संक्रमण से बचाव में सहायक है।


गौरतलब है कि मोनिका जांगिड़ ने पिछले लोक डाउन के समय भी सैकड़ों मास्क स्वयं तैयार करके लोगों को निशुल्क वितरित किए थे, साथ ही जरूरतमंद लोगों के लिए राहत सामग्री व भोजन की भी उचित व्यवस्था की थी।

0/Post a Comment/Comments

DIFFERENT NEWS

EVENT FESTIVAL

EVENT FESTIVAL