तरविंदर मारवाह ने दिया सरना दल को खुला समर्थन

 

नई दिल्ली 16 फरवरी।  राजधानी के दक्षिणी दिल्ली की प्रमुख सिख संस्था केंद्रीय गुरु सिंह सभा ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के होने वाले आम चुनावों के मदृदेनजर शिरोमणि अकाली दल दिल्ली का साथ देने का ऐलान किया है। मंगलवार को अकाली दल के पार्टी कार्यालय में केंद्रीय सिंह सभा के प्रमुख तरविंदर सिंह मारवाह ने परमजीत सिंह सरना की अगुवाई में खुला समर्थन देने का दावा किया। 



तरविंदर सिंह मारवाह दिल्ली कमेटी के लंबे समय से नुमाइ्ंदगी करते रहे हैं। वह शीला दीक्षित के कार्याकाल में विधायक एवं प्रमुख पदों पर जिम्मेदारी भी निभाते रहे हैं। वर्तमान में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में फैले भ्रष्टाचार एवं हेराफेरी से हमेशा के लिए निजात दिलाने के लिए मारवाह ने परमजीत सिंह सरना का साथ देने का बडा फैसला लिया है। इस मौके पर शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना, वरिष्ठ महासचिव हरविंदर सिंह सरना एवं महासचिव गुरमीत सिंह शंटी ने मारवाह का पटका डालकर स्वागत किया। मारवाह के साथ केंद्रीय गुरु सिंह सभा से जुडे सैकडों सिख संगत एवं कार्यकर्ताओं ने भी सरना दल को समर्थन देने का ऐलान किया है।

   इस मौके पर पूर्व विधायक एवं केंद्रीय गुरु सिंह सभा के अध्यक्ष तरविंदर सिंह मारवाह ने कहा कि सरदार परमजीत सिंह सरना ने अपने कार्यकाल में दिल्ली के सिख संस्थानों को राष्टीय स्तर पर पहुंचाया था। उनके कार्यकाल में कई नये शिक्षण संस्थान खोले गए थे। इसके अलावा स्वास्थ्य के क्षेत्र में बाला साहिब अस्पताल के नाम पर आलीशान 500 बेड का अस्पताल खोलने की नींव रखी थी। लेकिन विरोधियों ने गलत प्रचार करके गददी हासिल कर ली और अस्पताल भी बनने से रुकवा दिया। अब सरना ने दोबारा अस्पताल को शुरू करने का ऐलान किया है, इसका वह तहे दिल से स्वागत करते हैं। मारवाह ने कहा कि अस्पताल बनने से लाखों गरीब परिवारों का इलाज होगा।  

 शिअद दिल्ली के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना ने कहा कि तरविंदर सिंह मारवाह के आने से पार्टी मजबूत होगी और उनका जीत का रास्ता भी आसान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी कई और कमेटी सदस्य हैं जो उनकी पार्टी में शामिल होना चाहते हैं, क्यों कि वह वर्तमान गुरुद्वारा कमेटी की सत्ता से दुखी हैं।

 पार्टी के महासचिव हरविंदर सिंह सरना ने कहा कि तरविंदर सिंह मारवाह दक्षिणी दिल्ली में ख़ासा रसूख़ रखने वाले सिख चेहरों में माने जाते हैं। जिन्होंने पन्थक राह के साथ ही मुख्य धारा की राजनीति में लंबा सफर तय किया हैं। उनके आने से पार्टी का दायरा बढेगा और मजबूती आएगी।  

 दिल्ली कमेटी के पूर्व महासचिव एवं वर्तमान सदस्य गुरमीत सिंह शंटी ने कहा कि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, सभी ऐतिहासिक गुरुद्वारों एवं शिक्षण संस्थानों को बचाना बहुत जरूरी हो गया है। वर्तमान सत्ताधारी दल कमेटी को घर की जागीर समझ कर दोनों हाथ से लूट रहा है और मनमर्जी से फैसले ले रहा है। शंटी ने दावा किया कि कमेटी की आतंरिक आर्थिक हालात पूरी तरह से खराब हो चुका है, जिसका खामियाजा कमेटी एवं स्कूलों के सैकडों कर्मचारी भुगत रहे हैं। कर्मचारियों का 6 महीने से पीएफ नहीं जमा किया गया है, जबकि चहेतों को जमकर पैसे लुटाए जा रहे हैं।  

0/Post a Comment/Comments